सफलता और सृजनता के पूरक शिक्षक, समाजसेवक श्री देवनन्दन चौधरी का परिचय


स्वनाम धन्य महान शासक भारत द्वारा अपनी महिमा से मण्डित इस देश का इतिहास अत्यन्त सम्पन्न रहा है। राम-कृष्ण की इस भरत भूमि पर एक से बढ़कर एक वीर पैदा हुए, महात्माओं की यह भूमि जिसने कई सौ सालों की गुलामी की बेड़ियां तोड़ गरीबी, लाचारी असमानता से लड़ते हुए आज फिर से हमें आत्म निर्भर बनाया है उसमे लाखों लोगों की मेहनत लगी, आइये आज इस पोस्ट के माध्यम से हम और आप जानते है ऐसे ही एक वयोवृद्ध हस्ती के बारे में जिनका जीवन हम ग्रामवासियों के लिए एक प्रेरणा है..
श्री देवनन्दन चौधरी, जिनका जन्म 31 अक्टूबर 1928 को पिता नत्थू चौधरी एक साधारण किसान और माता सुधा देवी गृहिणी के यहां हुआ। एक साधारण कृषक परिवार(खरौना डीह) में जन्मे श्री चौधरी ने अपने जीवन का बहुत सा अंश भारतीय स्वतन्त्रा प्राप्ति से लेकर समाजसेवा में समर्पित किया है। 1948 में देवघर से प्रवेशिका परीक्षा तथा पुनः 1952 में साहित्य भूषण की उपाधि प्राप्त कर आपने शिक्षा क्षेत्र में अपनी भूमिका स्वीकार की। सन् 1950 में आपने रामबाग मुजफ्फरपुर से शारीरिक परीक्षा प्राप्त किया और उसी वर्ष श्रीमती सुदामा देवी से आपका विवाह हुआ।
बचपन से ही आपके मन में समाजसेवा, जनकल्याण की भावना तथा बड़ों के प्रति सम्मान एवम् छोटे के प्रति स्नेह का भाव देखा गया। राष्टीय जाग्रति ऐसी रही कि 1942 में कक्षा 7वीं के छात्र के रूप में आपने पताही मिडिल स्कूल में अंग्रेजों के कोड़े खाना स्वीकार किया। 1946 में शिक्षक प्रशिक्षण प्राप्त कर 1949 से प्राथमिक विद्यालय शाहपुर पट्टी(साहेबगंज) में शिक्षण का कार्य प्रारम्भ किया। इसी क्रम में कांग्रेसी नेता श्री नवल किशोर सिंह की गुरुता से प्रभावित होकर 1954 से शिक्षक संघ का सेवक बनकर समाज सेवा में तल्लीन हुए। स्थानीय गणमान्य लोगों के सानिध्य में रहते हुए 1964 तक अंचल मंत्री के पद पर सक्रिय रहे। ततपश्चात् पिताजी के मृत्यु उपरांत कांग्रेस प्रतिनिधि के आग्रह पर श्री आनंदी ठाकुर के सहयोग से राजकीय मध्य विद्यालय रुसुलपुर में सन् 1965 से कार्यभार ग्रहण किया। सेवा में पदोनत्ति के बाद 1975-86 तक राजकीय मध्य विद्यालय छपड़ा(अंचल- काँटी) में कार्यरत रहते हुए 31 अगस्त 1986 को अवकाश प्राप्त किया।
औपचारिक सेवा से मुक्ति प्राप्त कर ग्रामीण परिवेश में रहते हुए शिक्षा का विकास के प्रति आकर्षित हुआ और इसी श्रृंखला में एक महाविद्यालय की स्थापना का प्रस्ताव रख यथाशक्ति सहयोग कर श्री बृजनंदन चौधरी विंड देवी महाविद्यालय खरौना में अध्यक्ष पद ग्रहण कर निरन्तर बालक-बालिकाओं को प्रोत्साहित करते रहने का प्रयास करते रहे। किसी भी सामजिक एवम् धार्मिक उत्थान में अपना सहयोग देना आपको अच्छा लगता है। जीवन के 88वें सर्द में पांव रखते हुए भी आप गाँव में हो रही सृजनात्मक कोशिशों में आते रहे है।
आज जो एक अलग कोशिश हो रही है गाँव में उसको भी आपने अपना दर्शन और अपना आशीर्वाद दिया जिसके हम आभारी है। हम आपके स्वस्थ, सुखी एवम् समुन्नत दीर्घजीवन की कामना करते है।
हम है
खरौना के नवयुवक

http://www.kharauna.com

Advertisements

गाँव में हो रही नई कोशिशें


पिछले १ महीने से गाँव में डिजिटल साक्षरता का अभियान चलाया जा रहा था और हर रविवार को गाँव के छात्र छात्र मीटिंग करते थे, आज पंचायत भवन परिसर में उन्हीं बच्चों को पुरस्कृत किया गया. इस मौके पर बाबा श्री सत्यानन्द चौधरी ने विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए उन्हें सत्मार्ग पर चलते हुए विद्यार्थी के कर्तव्यों के बारे में बताया, उन्होंने खरौना को शिक्षा के मामले में संपन्न बताते हुए कहा की बिहार में शायद ही ऐसा कोई गाँव हो जहाँ इतने ज्यादा शैक्षणिक संस्थान हो, जहाँ इतनी कोशिशें की जा रही हो. बाबा ने डिजिटल साक्षरता के सफल प्रतिभागियों को आगे ईमानदारी से पढने की भी सलाह दी और कहा की कंप्यूटर और फोन के बिना आज के शिक्षित समाज की कल्पना मुश्किल है और ऐसे में हम सब को डिजिटल साक्षर बनाना चाहिए. उन्होंने कार्यक्रम संचालक सन्नी कुमार को इस तरह के आयोजन के लिए धन्यवाद दिया और तन-मन-धन से अपने गाँव के विकास के लिए किये जाने वाले कार्यक्रम में अपनी भागीदारी को लेकर आश्वासन भी दिया.
पुरस्कार वितरण से पूर्व, हर रविवार की भांति इस रविवार गाँव के छात्र ने सामूहिक चर्चा करते हुए गाँव में शिक्षा के माहौल पर चर्चा की और इस साप्ताहिक कार्यक्रम की एक रुपरेखा भी तैयार की जिससे सभी विद्यार्थियों का फायदा हो. इस मौके पर प्रिये रंजन, रवीना खातून, रवि कुमार, सोनम कुमारी, अन्नू कुमारी, मयंक पराशर, सिद्धार्थ, सुशांत कुमार आदि उपस्थित थे.
इस कोशिश में आप सब भी आमंत्रित है, आइये और देखिये खरोना बदल रहा है.

डिजिटल साक्षरता कार्यक्रम खरौना में सम्पन्न


भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे, राष्ट्रिय डिजिटल साक्षरता मिशन साक्षरता कार्यक्रम का आज खरौना में समापन हुआ| इस कार्यक्रम का लाभ गाँव के लगभग ४० लोगों ने लिया जिनमे अधिकांश गरीब परिवार से थे. कार्यक्रम में सफल छात्र छात्रों को डिजिटल साक्षर का प्रमाण पत्र भी दिया गया. यह ट्रेनिंग Future Institute of Management Technology and Science, Patna और ग्रामीणों के सहयोग से चलाया गया था.

बरखास्त होंगे 87 मुखिया


मुजफ्फ़रपुर : मनरेगा की राशि पंचायत में होने के बावजूद मजदूरों को रोजगार नहीं देने वाले 87 मुखिया बरखास्त होंगे. डीएम संतोष कुमार मल्ल ने इसकी अनुशंसा पंचायत विभाग के प्रधान सचिव से की है. डीएम ने बताया, ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव के निर्देश के आलोक में विभाग की ओर से निर्धारित श्रम दिवस प्राप्त करने के लिए सभी पंचायतों को कहा गया था. जांच के क्रम में सीपीएमएस ने पाया गया, 92 पंचायतों में 10 लाख से अधिक राशि शेष है, लेकिन पंचायत के मुखिया विकास कार्य में रुची नहीं ले रहे हैं. इस कारण पंचायत का विकास कार्य प्रभावित हो रहा है. मजदूरों को रोजगार नहीं मिल रहा है. श्रम दिवस का सृजन लक्ष्य के तुलना में काफ़ी कम है. इसके आलोक में सभी 92 पंचायत के मुखिया से स्पष्टीकरण की मांग की गयी. केवल पांच पंचायत के मुखियाओं ने ही जवाब दिया. 87 पंचायत के मुखियाओं ने न तो राशि खर्च की और न ही स्पष्टीकरण का जवाब ही दिया. डीएम ने 87 मुखिया के विरुद्ध पंचायत अधिनियम की धारा 18 (5) के तहत कार्रवाई की अनुशंसा की है. मुखियाओं की सूची मीनापुर के सात शिवबालक पासवान, जामिन मठिया, अनीता शरण, बड़ा भारती, गीता देवी, मदारीपुर कर्ण, सुरेंद्र महतो, पीपराहा असली, सदमीन फ़ातमीस मनिकपुर , मो शाबिर, घौसौत, सुधीर कुमार, गौड़ीगामा. बोचहां के 10 पानो देवी, सहिलारामपुर, मो फ़िरोज आलम, बलथी रसुलपुर, सुधा भारती, नरकतिटया, महेश चौधरी, मैदापुर, विपिन कोइराला, पटियासा, विशुन देव सहनी, कर्णपुर दक्षिणी, सीताराम साह, आदि गोपालपुर, मीरा देवी, नरमा, उर्मिला देवी, उनसर, धर्मशीला देवी, कफ़ेन चौधरीऔराई के छह मंजू देवी, घनश्यामपुर, अजमेरी खातून, राजखंड उत्तरी, पूर्णिमा देवी, औराई, कृष्णा देवी, जनार जीवाजोर, अन्नू देवी, आलम पुर शिमरी, संजय कुमार गुप्ता, धरहरवा.मुशहरी के पांच चुल्हया देवी, झपहां, आशा देवी, मानिक विशुनदत्त चांद, पूनम कुमारी, अब्दुल नगर, रीना देवी, तरौरा गोपालपुर, आशा श्रीवास्तव, शेरपुर.गायघाट के चार बबीता देवी, लक्ष्मणनगर, धनवती देवी, कांटा पिरौछा उत्तरी, अंजू देवी, कांटा पिरौछा दक्षिणी, उर्मिला देवी, शिवदाहासाहेबगंज के तीन राजकुमारी देवी, रामपुर असली, रामनिवास सहनी, हुस्सेपुर रत्ती, गायत्री देवी, अहियापुरपारू के पांच मधुबाला सिन्हा, जाफ़रपुर, राधा देवी, कमलपुरा, शारदा देवी, देवरिया पश्चिमी, रीता देवी, मोहजम्मा, नरेश राम, कोयरिया निजामतमोतीपुर के आठ केशव प्रसाद सिंह, मंगुराहा ताजपुर, मो अरसद, बासघाट, नसीमा खातून, बरुराज पूर्वी, उर्मिला देवी, बरियारपुर दक्षिणी, उमेश कुमार, बरियारपुर पूर्वी, अनीता देवी, नरियार, कलावती देवी, कल्याणपुर हरौना, फ़ूलवंती देवी, बरुराज पश्चिमीसरैया के चार रामप्रवेश राय, रेपुरा रामपुर विश्वनाथ, शंकर महतो, बसैठा, सुमित्रा देवी, चक्रइब्राहिम, मालती देवी, रारामपुर. कुढ़नी के 11 ऊषा देवी, किशुनपुर मधुबन, रीना देवी, खरौना डीह, श्यामनंदन कुशवाहा, छाजन हरिशंकर, मनोज कुमार सहनी, हरिशंकर मनियारी, चिंता देवी, केरमा डीह, बमभोला सहनी, छितरौली, मनोज कुमार, शाहपुर मरीचा, आरती देवी, पकाही, उर्मिला देवी, जमरूहआ, कांति देवी, किशुनपुर मोहनी, निलोफ़र यासमीन, लदौरा. मड़वन के सात उमाशंकर राय, गवसरा, नजमा खातून, जीयन खुर्द, राजकुमार राम, शुभकंरपुर, इंदू देवी, बड़का गांव दक्षिणी, मो सैयद जान, मखदूमपूर कोदरिया उत्तरी, मुन्नी देवी, मोहम्मदपुर खाजे, गुलशनआरा, रक्साकांटी के पांच विश्वनाथ गुप्ता, पानापुर हवेली, रानी देवी, मुस्तफ़ापुर, मो अनवारुल हक आजाद, बहुआरा, सुदर्शन मिश्रा, शेरुकांही, मो हबीबूर रहमान, झिटकांही मधुबनसकरा पंचायत के सात अंजली कुमारी, गौरीहार खालीक नगर, नीलम देवी, मिश्रौलिया, विमल देवी, राजापाकर, विमला देवी, हरलोचनपुर, महाजनी देवी, शिराजाबाद, सुरेंद्र प्रसाद, डिहुली इसहाक, सोहन प्रसाद, चंदन पट्टीकटरा के पंचायत पांच महाताप लाल बैठा, तेहवारा, सुरैया जिमल, बंधपुरा, महजबी, हथौरी, नवीन ठाकुर, जजुआर मध्य, विनोद कुमार दास, बसघट्टा. मुखिया संघ की बैठक आज मुजफ्फ़रपुर 87 मुखिया को बरखास्त किये जाने की अनुसंशा को लेकर मुखिया संघ की आपात बैठक बुधवार को होगी. संघ के अध्यक्ष प्रियदर्शिनी साही ने बताया, बैठक में मामले पर विचार किया जायेगा. साथ ही मुखिया संघ भी मामले की अपने स्तर से जांच करवायेगा. इसके बाद संघ कोई फ़ैसला लेगा. – प्रभात कुमार –

News Posted in Prabhat Khabar On 29th February

Some old News Posted on Kharauna in various News Paper-

चलेगा स्पीडी ट्रायल : एसएसपी

ग्रामीणों में कंस्ट्रक्शन कंपनी के प्रति रोष

राष्ट्रपति स्काउट पुरस्कार से सम्मानित होंगे 15 छात्र

अंडरपास निर्माण को लेकर प्रदर्शन

खरौनाडीह महादलित बस्ती की बदलेगी सूरत

खरौनाडीह के होमात्मक शतचंडी महायज्ञ में उमड़ रही भीड़

मनरेगा जांच को रोस्टर तैयार

पैसे हैं पर पैक्स नहीं खरीद रहे धान, होगी कार्रवाई