प्रधानमंत्री मोदी ने सांसदों के नाम पर ”सांसद ग्राम योजना” का ऐलान किया


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से तिरंगा फहराया. मोदी लाल किले की प्राचीर से बिना लिखा हुआ भाषण देते हुए देश के सभी लोगों को आजादी के इस मौके पर शुभकामना दी. मोदी ने कहा कि मैं आपके बीच प्रधानमंत्री नहीं प्रधानसेवक के रूप में आया हूं. मोदी बिना किसी सुरक्षा घेरे के भाषण दे रहे थे.

उन्‍होंने कहा कि देश को हमारे किसानों ने बनाया है. एक दलित परिवार के बेटे को लाल किले के इस प्राचीर से झंडा फहराने का मौका मिला है. मैं सभी प्रधानमंत्रियों का आभार व्‍यक्‍त करना चाहता हूं. हम सभी देश को मिलकर आगे ले जायें ऐसा संकल्‍प करें. मैं सभी सांसदों का अभिनंदन करता हूं. कल संसद का आखिरी दिन था, इस दौरान हमें सभी दलों का सहयोग मिला. सभी सांसदों को शुभकामनाएं देता हूं.

मोदी ने कहा कि एक सरकार के अंदर दर्जनों सरकार चल रही थी. मैंने इस दीवार को गिराने का काम किया है्. उन्‍होंने कहा कि सरकार का एक लक्ष्‍य होना चाहिए. एक मति,एक नीति. बलात्‍कार की घटनाओं से शर्म आती है. शर्म से मेरा माथा झूक जाता है. मैं घर की माताओं और पिताओं से पूछना चाहता हूं कि कभी आपलोगों ने अपने बेटे से पूछा है कि देर से क्‍यों घर आ रहे हो,घर से बाहर कहां जा रहे हो. हम अपनी बेटियों पर तो पाबंदी लगाते हैं लेकिन बेटों पर नहीं. बेटों पर बंधन डालकर देखने की जरूरत है.

बेटी से तो मां-बाप सैकड़ों सवाल पूछते हैं, पर क्या बेटों से ये सवाल पूछते हैं. आखिर बलात्कार करने वाला किसी का तो बेटा है. मोदी ने नक्‍सलियों से हिंसा का रास्‍ता छोड़ने की बात कही. उन्‍होंने कहा हमें हिंसा का रास्‍ता छोड़कर एकता के रास्‍ते को अपना लें. उन्‍होंने कहा कि खूनखराबे से कुछ मिलने वाला नहीं है,खून खराबे से केवल देश की धरती लाल होगी. मार-काट से किसी को कुछ नहीं मिला है.

देश की आनबान शान में बेटियों का योगदान है. कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में 64 में से 29 पदक बेटियों ने दिलाया. मैं डॉक्टरों से कहना चाहता हूं कि अपनी तिजोरी भरने के लिए किसी बेटी को गर्भ में मत मारिये. जन-धन योजना के माध्यम से देश के गरीब से गरीब लोगों को भी बैंक अकाउंट योजना से जोड़ेंगे. मोदी ने गरीबों को तोहफा दिया है. एक लाख लोगों को बीमा योजना का लाभ मिलेगा. मोदी ने सांसदों के नाम पर नयी योजना बनाने की घोषणा की. प्रधानमंत्री ने सांसद आदर्श ग्राम योजना की घोषणा की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में सफाई का काम सबसे बड़ा है. मैंने भी प्रधानमंत्री बनने के साथ ही सफाई का काम किया है. उन्‍होंने देश की जनता से सफाई का संकल्‍प करने का आहवान किया. उन्‍होंने कहा कि अगर सभी संकल्‍प करेंगे तो देश में हर ओर सफाई होगी और इसके बाद किसमें इतनी हिम्‍मत होगी कि कोई देश को गंदा कर सके.

देश में फैले नक्सलवाद पर चिंता जताते हुए मोदी ने कहा कि खून बहाने से धरती लाल होती है, परंतु कंधे पर हल रखा हो तो हरियाली आती है।

देश में लड़कियों की संख्या में कमी से चिंतित मोदी ने डॉक्टरों से भावुक अपील करते हुए कहा कि अपनी तिजोरी भरने के लिए किसी बेटी को गर्भ में मत मारिए। उन्होंने कहा कि इस बार के राष्ट्रमंडल खेलों में मेडल जीतने वालों में 29 बेटियां भी शामिल थीं।

इससे पहले लाल रंग की पगड़ी पहने हुए प्रधानमंत्री मोदी ने राजघाट पहुंच कर महात्मा गांधी को नमन किया। इसके बाद मोदी लाल किले पहुंचे जहां उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद प्रधानमंत्री ने लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा फहराया।

मोदी ने कहा कि म‍हात्‍मा गांधी की 150 जयंती आ रही है इसपर हमें सकल्‍प कराना है कि हर ओर सफाई हो. प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रत्‍येक स्‍कूलों में बच्चियों के लिए अलग टॉयलेट होना चाहिए. उन्‍होंने सांसदों से आग्रह किया की वे अपना एक साल का फंड टॉयलेट के लिए दें.

मोदी लाल किले पहुंचने से पहले महात्‍मा गांधी को श्रद्धांजलि देने राजघाट पहुंचे. उन्‍होंने 68 वें स्‍वतंत्रता दिवस के इस महान मौके पर बापू को श्रद्धांजलि दी. इसके बाद वह लाल किले के लिए निकले.

मोदी देश के श्रेष्ठ वक्ता माने जानेवाले अटल बिहारी वाजपेयी को अपना आदर्श मानते हैं. उनका मानना है कि लिखे हुए भाषण को पढ़ने से उनकी संवाद क्षमता प्रभावित होती है. अटलजी के साथ भी एक बार ऐसा हुआ था. ज्ञात हो कि मोदी ने चार मंत्रियों रवि शंकर प्रसाद, स्मृति ईरानी, अनंत कुमार और पीयूष गोयल को अलग-अलग मंत्रालयों के साथ सामंजस्य बैठाने और भाषण का खाका तैयार करने की जिम्मेवारी सौंपी है.

सरकार में मौजूद सूत्रों ने बताया कि भाषण में जिक्र किए जाने वाले विषय ‘प्वाइंट’ के रुप में मोदी के पास होंगे, जिसके आधार पर वह अपना भाषण देंगे. उनके भाषण को लिखित रुप देने का काम अनुवादकों के साथ प्रेस सूचना ब्यूरो (पीआईबी) के अधिकारियों की एक बडी टीम करेगी.

गौरतलब है कि परंपरागत रुप से प्रधानमंत्री स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्र को संबोधित करने के दौरान पहले से लिखे हुए भाषण को पढा करते हैं. हालांकि, मोदी पहले से नहीं लिखा हुआ भाषण देने के लिए जाने जाते हैं. अपने भाषण में प्रधानमंत्री द्वारा अपनी दूरदृष्टि का जिक्र और अपने कार्यकाल के दौरान लागू किए जाने वाले कार्यक्रमों और नीतियों का एजेंडा बयां किये जाने की उम्मीद है.

विदेश नीति से जुडे मुद्दे पर उनके बोलने की उम्मीद है. मोदी द्वारा एक महात्वाकांक्षी वित्तीय समावेश योजना पेश करने की उम्मीद है जो 15 करोड लोगों को बैंक खाता मुहैया करेगा, जिसमें 5,000 रुपये की ओवरड्राफ्ट सुविधा (खाते में जमा रकम से अधिक निकासी) होगी और एक लाख रुपये की दुर्घटना बीमा होगी.

सूत्रों ने बताया कि दो चरणों वाले वित्तीय समावेश मिशन का मोदी यहां इस महीने के आखिर में शुभारंभ करेंगे. इसे केंद्रीय कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है. उन्होंने बताया कि सरकार इस योजना को देश भर में 28 और 29 अगस्त को संचालित करने के लिए तैयारी कर रही है.

[खरौना खबर को शेयर कीजिये और अन्य खरौना प्रेमियों तक पहुँचने में हमारी मदद करें. सराहना, सुझाव एवं शिकायत के लिए कमेंट करें. ]

खरौना

तिरहुत नहर पर बना बाँध खरौना के समीप टूटा


तिरहुत नहर पर बना बांध (खरौना साईफन से २०० मीटर दक्षिण) टूट गया है. बाँध पकड़ी गाँव के तरफ का टूटा है जिससे पकड़ी के लोगों खासकर किसानो और गरीबों के लिए बड़ा संकट उत्पन्न हो गया है. आपको बता दें कई साल से चल रहे, बांधों को पक्का करने का काम इसी वर्ष पूरा किया गया था किन्तु नहर में अधिक पानी हो जाने के कारण पक्की बांध भी टूट गयी है. बांध टूटने से पकड़ी, खरौना के किसानो का बड़ा नुक्सान हो गया है गया है.

यह जानकारी सुजीत रंजन जी ने दी है.

[खरौना खबर को शेयर कीजिये और अन्य खरौना प्रेमियों तक पहुँचने में हमारी मदद करें. सराहना, सुझाव एवं शिकायत के लिए कमेंट करें. ]

खरौना

बिहार में मूसलधार बारिश


सावन भले ही सूखे में बीत गया हो लेकिन भादो का पहला चरण उस सूखे के निशान तक को मिटा रहा है। पहले दिन से ही पूरे बिहार में मूसलधार बारिश हो रही है। पिछले कई दिनों से हो रही इस बारिश के बाद सडको का बुरा हाल हो गया है और मुजफ्फरपुर की सड़कें, विशेषकर शहरी क्षेत्र की सडकों पर घुटनो तक पानी जमा हो गया. लगातार हो रही बारिश के कारण स्कूली बच्चों और नौकरी करने वालों का गाँव से बाहर निकलना मुश्किल हो रहा है. अभी और बारिश होने की उम्मीद होने की उम्मीदें जताई जा रही है.

वैसे बारिश ने पुरे खरौना की हरियाली की और बढ़ा दिया  है. 


छाया- सुजीत रंजन

[खरौना खबर को शेयर कीजिये और अन्य खरौना प्रेमियों तक पहुँचने में हमारी मदद करें. सराहना, सुझाव एवं शिकायत के लिए कमेंट करें. ]

स्वतंत्रता दिवस का तोहफा, पेट्रोल होगा सस्ता


Petrol Price

खरौना खबर | ख़ुशी की खबर.

नई दिल्ली। मोदी सरकार अपने पहले स्वतंत्रता दिवस पर जनता को पेट्रोल की कीमतों में कमी का तोहफा देने जा रही है। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने कहा है कि 14/15 अगस्त की मध्यरात्रि से पेट्रोल की कीमत 2.38 रुपये तक घट जाएगी। पेट्रोल की कीमतें सरकार के नियंत्रण से बाहर होने के बाद संभवत: यह पहला मौका है जब सरकार के मंत्री ने पेट्रोल की कीमतों में बदलाव का एलान किया है। राजग सरकार के कार्यकाल में पेट्रोल की कीमतों में यह सबसे बड़ी कटौती होगी।

पेट्रोल के सस्ता होने को सरकार की तरफ से महंगाई से परेशान जनता को राहत देने की कोशिशों के तौर पर देखा जा रहा है। प्रधान ने बुधवार को ट्वीट कर जानकारी दी कि 15 अगस्त से पेट्रोल के दाम 1.89 रुपये से लेकर 2.38 रुपये तक घट जाएंगे।

इससे पहले मंगलवार को ही इंडियन ऑयल के चेयरमैन ने इस आशय के संकेत दिए थे। लेकिन, पेट्रोलियम मंत्री ने इसकी आधिकारिक पुष्टि कर दी है। इसे स्वतंत्रता दिवस से भी जोड़ कर देखा जा रहा है। 15 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लालकिले से अपना पहला भाषण देंगे। पेट्रोल की कीमतों में कटौती केबाद इसकी कीमतें एक साल के न्यूनतम पर आ जाएंगी।

आमतौर पर पेट्रोल डीजल की कीमतों में बदलाव को लेकर उसी दिन एलान किया जाता है। लेकिन, पेट्रोलियम मंत्री ने इसकी घोषणा करीब 31 घंटे पूर्व ही कर दी है। कीमतों में बदलाव की घोषणा भी तेल कंपनियों द्वारा ही की जाती है।

चूंकि राजग सरकार के लिए यह बड़ा मौका है कि 15 अगस्त के दिन से कटौती लागू हो रही है और प्रधानमंत्री अपना पहला भाषण लाल किले से देंगे। साथ ही राजग सरकार के कार्यकाल में पेट्रोल की कीमतों में सबसे बड़ी कटौती भी है। लिहाजा इसे जनता को राहत देने के रूप में देखा जा रहा है।

तेल कंपनियों ने पहली अगस्त को ही पेट्रोल की कीमतें 1.09 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से घटाई थीं। माना जा रहा है कि डॉलर के मुकाबले रुपये की मजबूती ने तेल आयात की लागत घटाई है। साथ ही अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भी कच्चे तेल [क्रूड] की कीमतों में नरमी के समाचार मिल रहे हैं। इसका असर भी तेल कीमतों पर पड़ा है। जानकार मान रहे हैं कि अगर अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों का रुख यही बना रहा तो पेट्रोल की कीमतों में आगे भी कमी हो सकती है।

ये हो जाएंगे दाम-

शहर , अभी , बाद में

दिल्ली , 72.51 , 70.33

कोलकाता , 80.30 , 78.03

मुंबई , 80.60 , 78.32

चेन्नई , 75.78 , 73.47

[सभी दरें रुपये प्रति लीटर में हैं]

[खरौना खबर को शेयर कीजिये और अन्य खरौना प्रेमियों तक पहुँचने में हमारी मदद करें. सराहना, सुझाव एवं शिकायत के लिए कमेंट करें. ]

खरौना

बापू नोटों पर कब आए, आरबीआइ को ही नहीं पता


Indian Noteभारतीय मुद्रा की विशेष पहचान के रूप में उसमें अंकित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की फोटो को देखा जा सकता है। मगर पहले बापू की फोटो अंकित नहीं होती थी। अस्सी के दशक तक किसी व्यक्ति विशेष की जगह राष्ट्रीय प्रतीक चिह्न चार शेरों वाली मूर्ति एवं अन्य वस्तुओं की फोटो नोटों में छपती थी। अचानक 90 के दशक में महात्मा गांधी की फोटो नोटों में छापी जाने लगी। यह कब हुआ, कैसे और किसके आदेश पर हुआ, इसकी जानकारी न सरकार को है और न ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को। इस तथ्य का खुलासा सूचना के अधिकार (आरटीआइ) के तहत मांगी गई जानकारी से हुआ है।

आरटीआइ कार्यकर्ता नरेंद्र शर्मा ने केंद्र सरकार और आरबीआइ से जानकारी मांगी थी कि नोटों में बापू की फोटो छापने का निर्णय किस दिनांक और किस वर्ष लिया गया। यह भी पूछा गया था कि यह निर्णय किस आदेश से लिया गया था, उस विभाग और उन अधिकारियों के नामों की जानकारी दी जाए। इस पर केंद्र और आरबाइआइ ने बताया कि सभी नोटों पर वॉटर मार्क एरिया में महात्मा गांधी की फोटो मुद्रित करने की सिफारिश 15 जुलाई, 1993 और नोट में दाहिनी तरफ बापू का चित्र मुद्रित करने का सिफारिश 13 जुलाई, 1995 को आरबीआइ ने केंद्र सरकार को की थी। यह निर्णय केंद्र सरकार ने कब लिया, कब लागू हुआ और किस तारीख से महात्मा गांधी की फोटो भारतीय नोटों पर छापने का कार्य शुरू हुआ। इसकी जानकारी उनके पास उपलब्ध नहीं है।

-WebSource

[खरौना खबर को शेयर कीजिये और अन्य खरौना प्रेमियों तक पहुँचने में हमारी मदद करें. सराहना, सुझाव एवं शिकायत के लिए कमेंट करें. ]

गरीबनाथ मंदिर में कारबाइन से फायरिंग


 गरीबनाथ मंदिर में शनिवार की सुबह करीब पौने दस बजे पहले पूजा करने के विवाद में एक युवकने कारबाइन से हवा में 10 राउंड गोलिया चला दीं। इससे वहा काफी देर तक अफरातफरी मच गई। पुलिस ने मुख्य सड़क के किनारे स्थित सुधा बूथ के निकट से नाइन एमएम की एक जिंदा गोली व सोनपट्टी रोड में माई स्थान से खोखा बरामद किया है। मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे से फायरिंग करनेवाले की पहचान करने की कोशिश की जा रही है।

जानकारी के अनुसार मंदिर में एक महिला के साथ आए युवक की पहले से पूजा कर रहे पंकज मार्केट रोड निवासी कपड़ा व्यवसायी संजय तुलस्यान से झड़प हो गई। संजय को मंदिर परिसर से खींच कर बाहर ले जाया गया व उनके साथ मारपीट की गई। स्थानीय लोगों के जुट जाने पर संजय भागकर फिर मंदिर में छुप गए। लोगों को जुटते व उनके विरोध को देखकर युवक कारबाइन से फायरिंग कर वहा से भाग निकला।

दोपहर बाद बंधेगी राखी, जानिए रक्षाबंधन के शुभ मुहूर्त


kharauna_rakhiश्रावण मास की पूर्णिमा को रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाता है। इस बार ये पर्व 10 अगस्त, रविवार को है। ज्योतिषियों के अनुसार इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा का योग बन रहा है, जिसके कारण दोपहर बाद रक्षाबंधन पर्व शुरू होगा और बहनें अपने भाइयों को राखी बांध सकेंगी।
उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. श्यामनारायण व्यास के अनुसार 10 अगस्त की सुबह 6.05 बजे सूर्योदय से रात 11.38 बजे तक पूर्णिमा तथा सूर्योदय से रात 10.39 बजे तक श्रवण नक्षत्र का संयोग बन रहा है, जिसमें राखी बांध सकते हैं, लेकिन 9 अगस्त की अलसुबह 3.35 बजे से 10 अगस्त की दोपहर 1.37 बजे तक भद्रा काल रहेगा।
चूंकि शास्त्रों में भद्रा काल में कोई भी शुभ कार्य वर्जित माना गया है। इसलिए 10 अगस्त को दोपहर बाद ही राखी बांधना शास्त्र सम्मत रहेगा। इस वजह से दोपहर 1.37 बजे भद्रा काल समाप्त होने के बाद रात 10.39 तक रक्षाबंधन पर्व मनाना शुभ रहेगा। इस प्रकार राखी बांधने के लिए दिन भर में कुल 9 घंटे 2 मिनट का मंगल मुहूर्त रहेगा।

 

रक्षाबंधन के शुभ मुहूर्त

दोपहर 1.37 से 3 तक शुभ
शाम 7 से 8.30 तक शुभ
रात 8.30 से 10 तक अमृत
[खरौना खबर को शेयर कीजिये और अन्य खरौना प्रेमियों तक पहुँचने में हमारी मदद करें. सराहना, सुझाव एवं शिकायत के लिए कमेंट करें. ]