नवरुणा अपहरण कांड की हो सीबीआई जांच


नवरुणा अपहरण कांड की हो सीबीआई जांच

मुजफ्फरपुर : स्कूली छात्रा नवरुणा के अपहरण की गुत्थी सुलझाने में जिला पुलिस विफल साबित हुई है। 105 दिन बाद भी वह किसी नतीजे तक नहीं पहुंच सकी। सीआइडी जांच से भी कोई ठोस नतीजा नहीं निकला। इसलिए इसकी सीबीआइ से जांच कराई जाए। मंगलवार को अग्रणी स्वाभिमान मंच ने इस मांग को लेकर समाहरणालय पर प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। बाद में जिलाधिकारी संतोष कुमार मल्ल ने उन्हें हरसंभव मदद का भरोसा दिया।

अग्रणी स्वाभिमान के अजितांश गौड़ ने कहा कि पुलिस की कार्रवाई आपत्तिजनक, अपूर्ण एवं असंतोषप्रद रही है। आरंभ से ही उन बिन्दुओं पर जांच नहीं हो रही जो अपहरण कांड की गुत्थी को सुलझाने के लिए जरूरी थे। संगठन ने यह सवाल किया कि किस आधार पर दस दिन पूर्व तक नवरुणा के परिजनों को उसकी बरामदगी का भरोसा दिया गया। मामले की सीबीआइ जांच कराई जाए। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदर्शन के दौरान डीएसपी व अन्य पुलिसकर्मियों ने बदसलूकी की। संगठन ने नवरुणा की सकुशल बरामदगी को लेकर 4 जनवरी से कॉलेजों में अभियान चलाने की घोषणा की। उस दिन रैली भी निकाली जाएगी।

आंदोलनकारियों से डीएम ने की सीधी बात

नवरुणा की सकुशल बरामदगी को लेकर आंदोलन कर रहे प्रदर्शनकारी शायद इसकी अपेक्षा भी नहीं कर रहे थे। मगर, उनके बीच पहुंचकर डीएम ने उन्हें चौंका दिया। उन्होंने सुरक्षाकर्मियों से समाहरणालय का मुख्य दरवाजा खोलने का इशारा किया। गेट खुलते ही प्रदर्शनकारी उनकी गाड़ी की ओर दौड़ पड़े। उसमें एसएसपी राजेश कुमार भी बैठे थे। दो प्रदर्शनकारियों को ही डीएम से बात करने की इजाजत दी गई। सीबीआइ जांच की मांग पर डीएम ने ज्ञापन मांगा और कहा कि उसे सरकार के पास भेज दिया जाएगा। आश्वासन के बाद प्रदर्शन समाप्त हो गया।

(Posted in Dainik Jagran Samachar)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s